Sri Krishna is Smiling at this Foolish Understanding

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quote-15-September-2020
  • Save

Simply eating, sleeping and giving great significance to momentary pleasures in this human existence is like committing suicide. Human form of life is the only means for crossing over the nescience of this illusory material existence. Our body is a valuable boat, and we have a very proficient captain as our Spiritual Master, Supreme Lord’s blessings are the favourable winds. We must take opportunity of these facilities to cross over the ocean through chanting of the Hare Krishna Mahamantra and return to the eternal blissful abode of Sri Sri Radha-Krishna, Goloka Vrindavan.

Srila Bhakti Bibudha Bodhayan Goswami Maharaj
15-September-2020

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quote-15-September-2020-Hindi
  • Save

मनुष्य जीवन में केवल खाना,सोना और क्षणिक सुखों को बहुत ज़्यादा महत्त्व देना आत्महत्या करने के समान है| केवल मनुष्य जीवन ही इस मायावी भौतिक संसार के अज्ञान को पार करने का एकमात्र साधन है| हमारा शरीर एक मूल्यवान नौका के समान है, हमारे गुरु इस नौका के कुशल कप्तान हैं और भगवान् की कृपा इस नौका के लिए अनुकूल हवाओं के जैसी हैं| हमें हरे कृष्ण महामंत्र का जप करके इन सुविधाओं का पूरा लाभ उठाना चाहिए और श्री श्री राधा कृष्ण के नित्य आनन्दमय धाम, गौलोक वृन्दावन, लौट जाना चाहिए|

श्रील भक्ति विबुध बोधायन गोस्वामी महाराज
15-September-2020

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quote-14-September-2020
  • Save

Everyone has varied notion about Lord, but the actual understanding is that every living entity belongs to the Supreme Lord Sri Krishna, and they are His eternal servant. We are grieving because we forgot our eternal position, desiring to enjoy in this illusory material world. The easiest way to be free from this entanglement is through chanting of the Hare Krishna Mahamantra under the shelter of a pure devotee.

Srila Bhakti Bibudha Bodhayan Goswami Maharaj
14-September-2020

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quote-14-September-2020-Hindi
  • Save

सबकी भगवान् के बारे में अपनी अपनी राय होती है पर वास्तविकता तो यह है कि प्रत्येक जीव भगवान् श्री कृष्ण का ही अंश है और उनका नित्य दास है| हम हमेशा पीड़ा में इसलिये रहते हैं क्यूंकि हम अपने नित्य स्वरुप को भूल चुके हैं और इस मायाबद्ध भौतिक जगत का आनंद उठाना चाहते हैं| इस माया के चक्रव्यू से छुटकारा पाने का सबसे सरल उपाय है एक शुद्ध भक्त का आश्रय लेकर हरे कृष्ण महामंत्र का जप करना|

श्रील भक्ति विबुध बोधायन गोस्वामी महाराज
14-September-2020

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quote-13-September-2020
  • Save

Supreme Lord Sri Krishna’s transcendental eternal pastimes can be realised through chanting of the divine Hare Krishna Mahamantra under the shelter of a bona fide Spiritual Master. Only by the mercy of the most revered Spiritual Master our firm faith on chanting this divine Mahamantra will manifest, and we will become blissful beholding those pastimes of Sri Krishna.

Srila Bhakti Bibudha Bodhayan Goswami Maharaj
13-September-2020

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quote-13-September-2020-Hindi
  • Save

एक प्रमाणिक गुरु के मार्गदर्शन में जब हम दिव्य हरे कृष्ण महामंत्र का जप करते हैं तो हमें भगवान् श्री कृष्ण की दिव्य लीलाओं का एहसास होता है| जब हमारे परम पूज्यनीय गुरु की हम पर कृपा होगी तभी हमारी दिव्य हरे कृष्ण महामंत्र का जप करने की दृढ़ निष्ठा प्रकाशित होगी और हम श्री कृष्ण की उन दिव्य लीलाओं को निहारते हुए आनंद से भर उठेंगे|

श्रील भक्ति विबुध बोधायन गोस्वामी महाराज
13-September-2020

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quote-12-September-2020
  • Save

Our eyes are covered by the dust of material desires. Chanting of the divine Hare Krishna Mahamantra wholeheartedly will clear this dust and will uncover Supreme Lord Sri Krishna’s beautiful form, wonderful qualities (compassion and loving affection for devotees) and His sweetest pastimes.

Srila Bhakti Bibudha Bodhayan Goswami Maharaj
12-September-2020

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quote-12-September-2020-Hindi
  • Save

हमारी आँखें भौतिक इच्छाओं की धूल से ढकी हुई हैं| जब हम पूरे ह्रदय से हरे कृष्ण महामंत्र का जप करेंगे तो यह धूल साफ़ हो जायेगी और भगवान् श्री कृष्ण का सुन्दर रूप, उनके अद्भुत गुण (जैसे अपने भक्तों के प्रति उनका अपार प्रेम और करुणा) और उनकी मधुर लीलाएं सभी प्रकाशित हो जायेंगे|

श्रील भक्ति विबुध बोधायन गोस्वामी महाराज
12-September-2020

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quote-11-September-2020
  • Save

Most humans have the perception that they are more clever than the Supreme Lord and act independently to relish the worldly pleasures. Supreme Lord Sri Krishna is smiling at this foolish understanding because the fact is that everyone is in the catch of Lord’s illusory energy (Maya), and bewildered in this material world. The only way to escape this catch of Maya is by surrendering unto Supreme Lord Sri Krishna through the chanting of the Hare Krishna Mahamantra.

Srila Bhakti Bibudha Bodhayan Goswami Maharaj
11-September-2020

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quote-11-September-2020-Hindi
  • Save

ज़्यादातर मनुष्य यही सोचते हैं कि वह भगवान् से भी ज़्यादा बुद्धिमान हैं और इस तरह वह इन भौतिक सुखों का आनंद स्वतंत्र होकर उठाते रहते हैं| परन्तु परमेश्वर भगवान् श्री कृष्ण उनकी इस मूर्खता पर हँसते हैं क्यूंकि सच्चाई तो यह है कि सभी भगवान् की माया शक्ति के वश में हैं और इस भौतिक संसार के चक्रव्यू में फंसे हुए हैं| इस माया के जाल से निकलने का एकमात्र रास्ता है हरे कृष्ण महामंत्र के जप द्वारा भगवान् श्री कृष्ण को पूर्ण रूप से शरणागत हो जाना|

श्रील भक्ति विबुध बोधायन गोस्वामी महाराज
11-September-2020

Srila-Bhakti-Bibudha-Bodhayan-Goswami-Maharaj-Quotes-11-15-Sep-2020
  • Save

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap